गंगनहर पुलिस ने नौ वर्षों से फरार चल रहे इनामी आरोपी को गिरफ्तार किया, एटीएम बदलकर लाखों रुपए निकालने का हैं आरोप

रुड़की । विगत नौ वर्षों से एटीएम बदलकर लाखों रुपए निकालने के मामले में फरार चल रहे आरोपियों को गंगनहर पुलिस ने हरियाणा से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।वर्ष 2011 में आरोपी ने अपने चार अन्य साथियों के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था। सिविल लाइन कोतवाली में घटना का खुलासा करते हुए एसपी देहात स्वपन किशोर सिंह ने बताया कि 25 मई 2011 को बाकरपुर,लक्सर निवासी जगपाल सिंह की तहरीर पर एटीएम बदलने के मामले में आठ लाख रुपए निकालने का मुकदमा दर्ज किया गया था।जांच के दौरान रोहित पुत्र बलवान सिंह,गोविंद पुत्र गुणानंद, विजय पुत्र राजपाल सिंह, अंकित पुत्र राजपाल सिंह निवासी दिल्ली और राजवीर पुत्र रामेश्वर निवासी सिद्धबली थाना सदर रोहतक हरियाणा द्वारा घटना को अंजाम देने का मामला प्रकाश में आया था।घटना का खुलासा करते हुए पुलिस ने राजवीर के अलावा अन्य चारों साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया है।फरार चल रहे आरोपी पुलिस ने पच्चीस सौ रूपए का इनाम भी घोषित किया था।आरोपियों को पकड़ने वाली टीम गंगनहर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज मेनवाल,वरिष्ठ उपनिरीक्षक देवराज शर्मा, बृजपाल सिंह,प्रमोद कुमार शामिल रहे।प्रेस वार्ता में सीओ रुड़की चंदन सिंह बिष्ट तथा कोतवाली प्रभारी सिविल लाइन राजेश शाह आदि भी प्रमुख रूप से मौजूद रहे,वहीं दूसरी ओर उत्तराखंड गोवंश अधिनियम में नवंबर 2019 से लगातार वांछित चल रहे अभियुक्तगणों को भी सिविल लाइन पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की।अभियुक्त गणों पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा कई हजार रुपयों का इनाम घोषित किया गया था।सिविल लाइन कोतवाली पुलिस इनामी अपराधियों को लगातार गिरफ्तार करने के लिए दबिशें दे रही थी।सूचना मिलने पर कोर कॉलेज के पास बेलडा तिराहे पर पुलिस टीम व सीआईयू की संयुक्त टीम द्वारा इन अभियुक्तगणों को गिरफ्तार किया गया।गिरफ्तार किए गए लालू उर्फ अहसान पुत्र अशरफ निवासी जौरासी,एहसान पुत्र अशरफ निवासी जौरासी अभियुक्तों को एसपी देहात द्वारा प्रेसवार्ता कर जानकारी दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.