कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल का गांधी परिवार पर बड़ा हमला, कहा ‘घर की कांग्रेस’ की जगह ‘सब की कांग्रेस’ हो, अब किसी और को दें मौका

नई दिल्ली । पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की करारी हार के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने एक बार फिर से नेतृत्व को लेकर सवाल उठाया है। उन्होंने कांग्रेस के खराब प्रदर्शन को लेकर गांधी परिवार पर अब तक का सबसे बड़ा हमला बोला है। इंडियन एक्सप्रेस को दिए साक्षात्कार में सिब्बल ने गांधी परिवार को नेतृत्व छोड़ने के लिए कहा है और किसी अन्य नेता को लीडरशिप देने की बात कही है। कपिल सिब्बल ने गांधी परिवार पर हमला बोलते हुए कहा कि अब वक्त आ गया है कि ‘घर की कांग्रेस’ की जगह ‘सब की कांग्रेस’ हो। उन्होंने कहा कि इस बार के परिणामों ने मुझे आश्चर्यचकित नहीं किया क्योंकि मुझे इसका अंदाजा पहले से था। हम 2014 से लगातार नीचे की ओर जा रहे हैं। हमने राज्य दर राज्य खोया है। जहां हम सफल हुए वहां भी हम अपने कार्यकर्ता को एक साथ नहीं रख पाए। इस बीच कांग्रेस से कुछ प्रमुख लोगों का पलायन हुआ है। जिनमें नेतृत्व का भरोसा था वह कांग्रेस से दूर जा रहे थे। 2022 के विधानसभा चुनाव में भी नेतृत्व के करीबी लोगों ने उनका साथ छोड़ दिया। मैं आंकड़े देख रहा था। यह ध्यान रखना वाकई दिलचस्प है कि 2014 से अब तक लगभग 177 सांसद, विधायक के साथ-साथ 222 उम्मीदवार कांग्रेस छोड़ चुके हैं। हमने इतिहास में किसी अन्य राजनीतिक दल में इस तरह का पलायन नहीं देखा है। सिब्बल ने कहा कि हमें समय-समय पर अपमानजनक हार का सामना करना पड़ा है। जिन राज्यों में हम प्रासंगिक होने की उम्मीद करते हैं, वहां वोटों का प्रतिशत लगभग न के बराबर है। उत्तर प्रदेश में हमारे पास 2.33 फीसदी वोट शेयर है। यह मुझे आश्चर्य नहीं करता। हम मतदाताओं से जुड़ने में असमर्थ हैं। सिब्बल ने कहा कि हम सामने से नेतृत्व करने में असमर्थ हैं, लोगों तक पहुंचने में असमर्थ हैं। हमारी पहुंच सार्वजनिक बहस का विषय है। जैसा कि गुलाम नबी आजाद ने कल कहा था कि एक नेता में पहुंच, जवाबदेही और स्वीकार्यता के गुण होने चाहिए। 2014 के बाद से, जवाबदेही का अभाव, घटती स्वीकार्यता और पहुंच बढ़ाने के लिए बहुत कम प्रयास हुए हैं। यही असली समस्या है। इसलिए परिणामों ने मुझे चौंकाया नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *