लंढौरा दुग्धशाला में समिति सचिवों ने D.P.M.C.U का प्रशिक्षण, डेरी में एडवांस तकनीक आने से समितियों को 225 DPMCU उपलब्ध कराए गए

रुड़की । दुग्ध संघ लंढौरा स्थित दुग्धशाला में समिति सचिवों ने D.P.M.C.U का प्रशिक्षण प्राप्त किया। राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स इंस्ट्रूमेंट लिमिटेड के इंजीनियरों द्वारा सचिवों को प्रशिक्षण दिया गया। ग्रामीण दूध उत्पादको को दूध का उचित मूल्य दिलाने तथा शहरी दुघ उपभोक्ता को शुद्ध स्वच्छ एवं गुणवत्ता युक्त दूध उपलब्ध कराने के लिए दुग्ध सहकारीता कार्य करती है। हरिद्वार दूध संघ में 14,000 सदस्य 250 दूध समितियों के माध्यम से जुड़े हुए है। डेरी में एडवांस तकनीक आने से समितियों को 225 DPMCU उपलब्ध कराए गए हैं जिनके द्वारा दूध की माप तोल एवं जांच कर किसान को तुरंत भुगतान पर्ची उपलब्ध कराई जाती है। अधिक दूध उत्पादन करने के लिए उन्नतनस्ल के दुधारु पशुओं, आंचल संतुलित पशु आहार ,पशु प्रबंधन एवं बीमारियों के उपचार की वयवस्था सरकारी योजनाओं से उपलब्ध कराई जाती है। दूध व्यवसाय ग्रामीणों के लिए स्वरोजगार एवं नियमित आय का मुख्य स्रोत है। प्रशिक्षण में मुकेश, जोगिंदर जीशान नरेश अमरपाल सिवान भूपेंद्र गौतम रविकांत शहजाद राजपाल टिंकू उदय अभिषेक गौरव हर्ष दीपक सुंदरलाल दिवस सरदार हरविंदर सिंह ,प्रीतम ,नीरज ,शो पाल ,अनिता ,सुषमा, कृष्णा, आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *