रास्ते के विवाद में आर्मी और ग्रामीणों में पथराव, चार महिला समेत 6 ग्रामीण घायल, टोडा कल्याणपुर गांव में आर्मी केन्ट के गेट पर रास्ता खोलने की मांग को लेकर धरना दे रहे थें ग्रामीण

रुड़की । रुड़की के टोडा कल्याणपुर में आर्मी केन्ट के गेट पर रास्ता खोलने की मांग को लेकर धरना दे रहे ग्रामीणों पर सेना सीमा क्षेत्र के अंदर से पथराव किया गया। लोगों को हटाने के लिए पानी की बौछारें भी मारी गयी। वहीं ग्रामीणों की ओर से भी सेना सीमा के अंदर पत्थर फेंके गए। पथराव में 4 महिलाओं समेत 6 ग्रामीणों को चोटें आई हैं। घायलों को 108 की मदद से उपचार के लिए भेजा गया। बता दें कि रुड़की के टोडा कल्याणपुर, नंदा कॉलोनी आदि क्षेत्रों के लोग सेना क्षेत्रो के रास्ते से शहर में प्रवेश करते हैं। वहीं सेना की ओर से ग्रामीणों को यहां से आने जाने पर अक्सर पाबंदी लगाई जाती रही है। ग्रामीणों का रास्ते को लेकर लंबे समय से सेना के साथ विवाद चला आ रहा है। कई बार सेना की ओर से रास्तों को बंद किया गया जोकि प्रशासनिक अधिकारियों की मध्यस्थता में खोले गए थे। वही लॉकडाउन के दौरान एक बार फिर से रास्ते को बन्द कर दिया गया। ग्रामीणों को रेलवे लाईन के किनारे स्थित एक वैकल्पिक मार्ग से आने जाने की बात कही गयी। वहीं ग्रामीणों के अनुसार रेलवे अधिकारी रास्ते को अपना बताकर वहां पर भी लोगों को आना जाना प्रतिवन्धित कर रहा है। ग्रामीण सेना क्षेत्र सहित रास्ते की मांग कर रहे हैं। इसी मांग को लेकर आज काफी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ बंद हुए गेट के बाहर एकत्र हुई। दूसरी ओर से सेना के अधिकारी भी मौके पर आ गए। ग्रामीणों और सेना के लोगों में बहस होने लगी। तभी ग्रामीणों ने गेट खोले जाने की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि इसके बाद सेना की ओर से पानी की बौछार शुरू कर दी गयी और उसके बाद सीमा क्षेत्र के अंदर से पत्थरों की बौछार होने लगी। पथराव में करीब 4 महिलाओ समेत 6 लोगों को चोटें आई इसके बाद ग्रामीणों ने भी जबाबी पत्थरबाजी की। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को शांत करवाया वही मामले की जानकारी पाकर तहसीलदार कृष्णा नन्दन पन्त, एसपी देहात स्वपन किशोर सिंह, सीओ चंदन सिंह बिष्ट आदि अधिकारी मौके पर पहुंचे। अधिकारियों का कहना है कि दोनों पक्षो से वार्ता की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *