ईंट भटटा मालिक हत्या कांड का खुलासा, दो गिरफ्तार, भट्ठा कब्जाने के लिए हत्याकांड को दिया था अंजाम

मंगलौर। क्षेत्र के गांव कुमराड़ा में ईंट भट्ठा स्वामी की हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से तमंचे व कारतूस बरामद किए गए हैं। भट्ठा कब्जाने के लिए हत्याकांड को अंजाम दिया गया। 29 जून कि सुबह करीब ग्यारह बजे गांव कुंमराड़ा स्थित मलिक ब्रदर्स ईंट भट्ठा के स्वामी अजय मलिक पुत्र तीरथ सिंह मलिक निवासी साउथ सिविल लाइन मुजफ्फरनगर की उन्हीं के कार्यालय में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। सोमवार को कोतवाली परिसर में आयोजित पत्रकार वार्ता में एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस ने घटना का खुलासा करते हुए बताया कि 2014 में गांव सढौला माजरा निवासी नाथीराम से अजय मलिक ने सोलह साल के लिए जमीन लीज पर ली थी। इसके लिए वह उसे हर वर्ष नियमानुसार रुपये या उसके बदले में ईटें दिया करता था। अजय मलिक का एक भट्ठा शामली में भी है। वहां पर उसका एक पार्टनर हुआ करता था। जिसने हिसाब किताब में कुछ गड़बड़ की थी तो उसने उसे भट्ठे के कार्य से अलग कर दिया था। इसी के चलते वह उससे रंजिश रखने लगा। जिसके बाद उसने जमीन स्वामियों के साथ संपर्क बढ़ाया तथा धीरे-धीरे उन्हें उकसाया कि वह अपनी जमीन वापस लें। जमीन के साथ उन्हें भट्ठा भी वापस मिल जाएगा, क्योंकि ईंट भट्ठा लाभ में चल रहा है। इस मामले को लेकर वर्ष 2020 में अजय मलिक तथा जमीन मालिक के बीच विवाद भी हुआ। लेकिन वह आपस में सुलझा लिया गया। जमीन मालिक नाथीराम की बेटी की शादियों में भी अजय मलिक ने लाखों रुपये दिए। उसके पुत्र लगातार अजय मलिक पर जमीन खाली करने का दबाव बना रहे थे। इस मामले में नाथीराम का दामाद भी शामिल हो गया। अजय मलिक के आने-जाने तथा उसके भट्ठे पर बैठने आदि की सारी जानकारियां इकट्ठी की गई। जिसके बाद 29 जून को हत्या की योजना को अंजाम दिया गया। हत्या में नाथीराम का बेटा तथा उसका एक साथी शामिल रहे जो कि एक बाइक पर सवार होकर भट्ठे पर पहुंचे। जहां पर कार्यालय में बैठे अजय मलिक पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर हत्या की। पकड़े गए आरोपियों में विपिन पुत्र नाथीराम निवासी ग्राम सढौला माजरा कोतवाली मंगलौर और अभिषेक पुत्र अशोक निवासी ग्राम बहेड़ी गुर्जर थाना गागलहेड़ी जनपद सहारनपुर हैं। षड्यंत्र में शामिल अन्य आरोपियों के नाम अजीत, अंकुश पुत्रगण नाथीराम, नाथीराम पुत्र बुध सिंह निवासी ग्राम सढौला माजरा, तीरथ पाल पुत्र काशीराम, वीरद्र पाल पुत्र काशीराम निवासी ग्राम बुच्चा खेड़ी जिला शामली उत्तर प्रदेश, पिंटू पुत्र बिरम सिंह निवासी ग्राम सढौला माजरा कोतवाली मंगलौर तथा सन्नी पुत्र नरेश निवासी ग्राम कुमराड़ा कोतवाली मंगलौर हैं। इस दौरान एसपी देहात परमेंद्र सिंह डोबाल, सीओ मंगलौर पंकज गैरोला मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.