मेलाधिकारी दीपक रावत के नेतृत्व में अधिकारियों ने पावन धाम-सप्त सरोवर एनएच मार्ग का निरीक्षण किया, पार्षद ने मेलाधिकारी को पुराने चित्र व दस्तावेज दिखाकर कराया अवगत

हरिद्वार । उत्तरी हरिद्वार में एनएचएआई द्वारा पावन धाम मार्ग-सप्त सरोवर को लिंक करने के लिए बनाये जा रहे अण्डर पास हेतु रिटेनिंग वॉल निर्माण के कार्य से क्षेत्रवासियों द्वारा जतायी जा रही जल भराव की आशंका के दृष्टिगत मेलाधिकारी दीपक रावत के नेतृत्व में अधिकारियों के दल ने पावन धाम-सप्त सरोवर एनएच मार्ग का निरीक्षण किया। इस अवसर पर क्षेत्रीय पार्षद अनिरूद्ध भाटी ने मेला अधिकारी दीपक रावत को पुराने चित्र व दस्तावेज दिखाकर अवगत कराया कि यह क्षेत्र डूब क्षेत्र है जहां वर्षाकाल में लगभग छह फीट पानी सड़कों पर बहता है। एनएच निर्माण के चलते पुराने 30 फीट के नालों को छोटा कर छह फीट का कर दिया गया है। अण्डर पास हेतु रिटेनिंग वॉल के निर्माण से क्षेत्र में जल भराव का संकट विकराल रूप ले लेगा।उन्होंने कहा कि रिटेनिंग वॉल के निर्माण से मुखिया गली, आदर्श नगर, कमलदास कुटिया, पावन धाम मार्ग, सप्त सरोवर मार्ग, शिवनगर, रानी गली में जल भराव की स्थिति उत्पन्न हो जायेगी। अण्डर पास के निर्माण से पूर्व जल निकासी की उचित व्यवस्था होना अत्यन्त आवश्यक है जिसके लिए पिलर पर ही अण्डर पास का निर्माण किया जाये। पार्षद प्रतिनिधि विदित शर्मा ने कहा कि बरसात के समय मोतीचूर, सप्त सरोवर, श्रद्धापुरम, सत्यम विहार, गायत्री विहार से आने वाला बरसाती पानी इसी क्षेत्र से होता हुआ गंगाजी में समाहित होता है। जब 30 फीट के पुराने नाले ही बरसाती पानी को नहीं संभाल पाते थे तो अब 6 फीट के नालों से बरसाती पानी की व्यवस्था कैसे होगी। साथ ही रिटेनिंग वॉल के निर्माण से पानी की निकासी पूर्णतया बाधित हो जायेगी। व्यापारी नेता विपिन शर्मा व सूर्यकान्त शर्मा ने कहा कि एनएचएआई ने जल भराव की समस्या को नजर अंदाज कर अण्डर पास का डिजाइन बनाया है। इन दोनों अण्डर पास के चलते गायत्री विहार, शांतिकुंज, रानी गली से लेकर दुर्गानगर तक जल भराव की स्थिति व्याप्त हो जायेगी। साथ ही स्थानीय दुकानदारों के समक्ष आजीविका का संकट उत्पन्न हो गया है। मेला अधिकारी दीपक रावत ने प्रतिनिधियों, क्षेत्रवासियों व व्यापार मण्डल के प्रतिनिधियों की बातचीत को गंभीरता से सुनकर एनएचएआई के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जल भराव के समाधान की योजना दो दिन के भीतर उनके समक्ष प्रस्तुत करें। मेला प्रशासन की प्राथमिकता त्वरित गति से एनएच मार्ग का निर्माण है। वहीं स्थानीय निवासियों के हितों की भी सुरक्षा की जायेगी। इस अवसर पर अपर मेला अधिकारी ललित नारायण मिश्र, एसडीएम कुसुम चौहान, एनएचएआई के वैभव मित्तल, जल संस्थान के अधिशासी अभियन्ता नरेश पाल, गंगा प्रदूषण नियंत्रण विभाग के अधिशासी अभियन्ता अजय कुमार, एसडीओ राकेश चौहान, वन विभाग के एसडीओ खुशाल सिंह रावत समेत अनेक अधिकारी तथा समाजसेवी मीरा गिरि, रितेश वशिष्ठ, दीपक पंत, व्यापारी नेता मृदुल कौशिक, राहुल चौधरी, मुकेश महंत, आदर्श पाण्डे, विजय पाल, अमरपाल प्रजापति, रूपेश शर्मा, संदीप गोस्वामी, अनुपम त्यागी, महावीर सैनी, राकेश कुमार, नागेन्द्र अग्रवाल, हरपाल धीमान, नीरज शर्मा, कमल पटेल, ओमप्रकाश ठाकुर, महंत नरेशानन्द, ओमप्रकाश पाल, सुनील कुमार, प्रमोद, अर्जुन, सोनू, मुकेश कुमार, कालीचरण, महंत दिव्यांश, विक्की प्रजापति, पंकज प्रजापति, प्रकाश केशव, अम्बूराम प्रजापति, पप्पू यादव, राजकुमार पाल, गगन यादव, सुखेन्द्र तोमर, विपिन शर्मा, मांधाता गिरि, रमाकांत शर्मा, विवेक, आदित्य यादव, सुनील सैनी, भागीरथ प्रजापति, अभिषेक गोस्वामी, अंकित प्रजापति, अनिता पाल, विक्की राणा, आशु प्रजापति, रामकुमार पाल, संजय पाल, कन्नू रावत, गौरव प्रजापति, शंकर, अस्मित पाल, शस्मित पाल, प्रशांत पाल, सुनील, सुनीता, राजन निषाद, मदन निषाद, शिमला पाल, प्रिंस, संजू पाल, विक्की पाल, सूरज, आकाश, महावीर, अमरपाल प्रजापति, राकेश चौहान, विरेन्द्र चौहान, ठाकुर ओमप्रकाश सिंह, देवन्द्र चौहान, सुमित चौहान, मुकेश, नितिन धीमान, गगन, आयुष पाल, गगन बहादुर, यश पाल, सत्यम प्रजापति, विजेन्द्र पाल, तुषार पाल, छोटू पाल, राजकुमार पाल, अंकित राणा, अमित राणा, गौरव निषाद, सोनू गिरि, सुनील सैनी, शुभम होल्कर, विनित पाल, नरेश ठेकेदार, उमेश भारद्वाज, नीरज शर्मा, आशु आहूजा, दीपू रावत, दीपू तोमर, लक्की, रवि कुमार, शेखर, सोनू, रेखा शर्मा, मीना पाल, मिथलेश शर्मा, गायत्री प्रजापति, अनिता पाल, श्रद्धा अग्रवाल, मीनाक्षी आदि सैकड़ों क्षेत्रवासी शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *