इन बीमारियों को जड़ से उखाड़ देते हैं जामुन के बीज और छाल, ऐसे करें इस्तेमाल

मौसमी फलों का अपना अलग ही मजा होता है. इनका स्वाद बहुत ही बढ़िया होता है. टेस्टी होने के साथ ही ये हमारी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं. अब तक गर्मियों के दिन चल रहे थे, जिसमें सभी ने आम खाने के भरपूर मजे लिए. अब गर्मी और इस सीजन के फलों व सब्जियां को गुडबाय कहने का समय हैं, क्योंकि बारिश की फुहारें दस्तक दे चुकी हैं.

इसके साथ ही सर्दी-खांसी, बुखार, दस्त, एलर्जी, त्वचा रोग और पेट से जुड़ी परेशानियों से लोग परेशान रहेंगे. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, इन दिक्कतों से बचने का सबसे सही उपाय है जामुन. मार्केट में जामुन मिलने लगी है आप भी जामुन जरूर खाएं. क्योंकि हमारी सेहत को इसके बहुत ज्यादा फायदे मिलते हैं. यहां जानें जामुन से होने वाले फायदों के बारे में…

जामुन में पाए जाते हैं जबरदस्त औषधीय गुण
जामुन में आयरन और फास्फोरस जैसे तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. जामुन के फलों के साथ-साथ इसकी गुठली, पत्तियां, छाल में जबरदस्त औषधीय गुण पाए जाते हैं. आदिवासी जामुन के हर एक हिस्से को कई तरह के हर्बल नुस्खों के तौर पर रोगों का इलाज करने के लिए इन्हें खूब आजमाते भी हैं. हर्बल जानकारों के मुताबिक, खाना खाने के बाद 100 ग्राम जामुन के फल खाना मौसमी बदलाव से जुड़े कई विकारों के दूर करने में फायदेमंद साबित होता है.

इसके सेवन से हीमोग्लोबिन बढ़ता है
एनीमिया (खून की कमी) को दूर करने में और खून में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के लिए जामुन का सेवन कारगार है. जामुन और आंवले का रस बराबर मात्रा में मिलाकर पीने से शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ता है.

आयरन की कमी को करता है दूर
जानकारों के मुताबिक, 15 दिन तक लगातार 100-150 ग्राम जामुन चबाने से खून साफ होता है. ये स्किन इन्फेक्शन में भी फायदा करता है. जामुन के फलों को आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए भी खाया जाता है. इसके सेवन से शारीरिक ताकत बढ़ती है. इन फलों में भरपूर मात्रा में कैरोटिन और लौह तत्व मौजूद होते हैं. माना जाता है कि गर्भवती महिलाएं जामुन के फलों का सेवन करती हैं, तो उनमें आयरन की कमी नहीं होती.

मुंह की परेशानी से मिलेगी निजात
इस पाउडर को मंजन भी बनाया जाता है. यह मुंह की बदबू दूर करता है, हानिकारक सूक्ष्जीवों को मारता है और मसूड़ों को मजबूत करता है. जामुन की छाल भी मसूड़ों के लिए लाभदायक है. जामुन की छाल का एक चम्मच पाउडर को एक कप पानी में डालकर उबालें. ठंडा होने पर इससे कुल्ला करें. इससे मसूड़ों की सूजन व खून आने की समस्या और दांत दर्द में राहत मिलती है.

गठिया रोग में है फायदेमंद
जामुन की छाल को बारीक पीसकर 2 चम्मच मात्रा पाउडर को पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट लें. जोड़ दर्द वाले हिस्से और घुटनों पर दिन में 3- 4 बार लगाएं. इससे गठिया के दर्द से आराम मिलता है. जामुन के फल खाने से भी जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है.

ये भी हैं फायदे
1.जामुन के गुठली के पाउडर की 1 ग्राम मात्रा को रात में सोने से पहले एक कप गुनगुने पानी में घोलकर बच्चों के पिला दें, इससे बच्चे बिस्तर पर पेशाब करना बंद कर देते हैं.
2.बुजुर्गों और शुगर के मरीजों को बार-बार पेशाब की समस्या में यह पाउडर फायदा देता है. इसके लिए 2 ग्राम पाउडर को सुबह शाम खाना खाने के खाएं या एक कप गुनगुने पानी में मिलाकर ले सकते हैं. रोजाना इसके सेवन से किसी तरह की दिक्कत नहीं होती.

Leave a Reply

Your email address will not be published.