नगर निगम कर्मचारी संयुक्त मोर्चा ने दी आंदोलन की चेतावनी, कहा अतिक्रमण के नाम पर सफाई कर्मचारियों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

हरिद्वार । नगर निगम कर्मचारी संयुक्त मोर्चा ने बैठक कर कर्मचारियों की समस्याओं का समाधान नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। बैठक के बाद मोर्चे की और से मेयर अनिता शर्मा व नगर आयुक्त को ज्ञापन देकर समस्याओं का शीघ्र समाधान कराने की मांग की गयी। नगर निगम स्थित यूनियन कार्यालय पर आयोजित बैठक में ज्वालापुर पुल जटवाड़ा स्थित बाल्मिीकि बस्ती में अतिक्रमण के नाम पर सफाई मजदूरों का उत्पीड़न किए जाने पर भी रोष प्रकट किया गया। बैठक को संबोधित करते हुए मोर्चे के नेता सुरेंद्र तेश्वर व राजेंद्र श्रमिक ने कहा कि कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान के लिए निगम प्रशासन को कई बार ज्ञापन दिए गए। लेकिन आज तक समस्याओं का समाधान नहीं किया गया। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि कर्मचारियों के देयों का समय पर भुगतान नहीं किया जा रहा है। सेवानिवृत कर्मचारियों को पीएफ व अन्य मदों का भुगतान कई-कई वर्षो तक नहीं किया जा रहा है। कर्मचारियों के देयकों का भुगतान करने के बजाए ठेकेदारों के बिल पास करने को प्राथमिकता दी जा रही है। मृतक आश्रितों को नियुक्ति के लिए भटकना पड़ रहा है। सुनील राजौर व आत्माराम बेनीवाल ने कहा कि ज्वालापुर पुल जटवाड़ा वाल्मीकि बस्ती में अतिक्रमण के नाम पर सफाई कर्मचारियों का उत्पीड़न किया जा रहा है। जबकि नगर निगम करोड़ों की संपत्ति अन्य लोगों के द्वारा कब्जा की हुई है। उन पर पर कोई कार्यवाही ना कर गरीब सफाई मजदूरों को उजाड़ने का काम किया जा रहा है। जिसे सहन नहीं किया जाएगा। कर्मचारी नेताओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि तीन दिन के अंदर समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो चरणबद्ध तरीके से आंदोलन शुरू किया जाएगा। ज्ञापन सौंपने वालों में राजेंद्र चुटेला, सलेक् चंद, प्रवीण तेश्वर, लक्ष्मीचंद, नीरज बागड़ी, अशोक छाछर, सुभाष खैरवाल, बलराम चुटेला, गोवर्धन, कुलदीप, दीपक, राजेश खन्ना, बंटी चंचल, अजय कुमार, शिवकुमार, मोतीराम, लोकेश चंचल आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *