चीनी उत्पादों के आयात पर प्रतिबंध लगाए सरकार, शहीद सैनिकों की स्मृति में सुराज सेवा दल ने हवन यज्ञ व शांति पाठ का आयोजन किया

हरिद्वार । लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में शहीद हुए वीर सैनिकों की स्मृति में सुराज सेवा दल के प्रदेश अध्यक्ष रमेश जोशी के संयोजन में कार्यकर्ताओं ने प्रेमनगर गंगा घाट पर हवन यज्ञ व शान्ति पाठ का आयोजन किया। कार्यकर्ताओं ने शहीद सैनिको को नमन करते हुये गंगा में पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्वाजलि दी। इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष रमेश जोशी ने कहा कि पूरा देश वीर शहीद सैंनिको के सम्मान व उनके परिजनों के साथ खड़ा है। देश की बहादुर सेना किसी भी चुनौती का सामना करने में पूरी तरह सक्षम है। सीमाओं की रक्षा कर रहे वीर भारतीय सैनिकों पर चीनी सैनिकों ने धोखे से हमला कर कायरता का परिचय दिया है। जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। चीन की इस कायराना हरकत का केंद्र सरकार को कड़ा जवाब देना चाहिए। केंद्र सरकार को चीन से आयात पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा देना चाहिए। आयात बंद हो जाने पर चीनी उत्पादों का भारत में उपयोग स्वयं ही समाप्त हो जाएगा। जो कि चीन के लिए बड़ा आर्थिक झटका होगा। भारतीय सीमाओं में चीन या किसी भी अन्य देश की दखल किसी सी सूरत मंे सहन नहीं की जायेगी। रमेश जोशी ने केन्द्र सरकार अपील करते हुये कहा कि सीमा पर शहीद हुये सैनिकों के परिजनो को दो-दो करोड़ आर्थिक सहायता प्रदान की जाए। जिला अध्यक्ष चन्द्रप्रकाश जोशी ने कहा कि देश दुनिया में भारतीय सेना को सबसे बहादुर सेना के रूप में जाना जाता है। देश के वीर जवान सीमाओं की रक्षा के लिए अपने प्राणों की बाजी लगाने से भी पीछे नहीं हटते हैं। पूरी दुनिया को कोरोना वायरस जैसी बीमारी देने वाले चीन का सभी देशों का बहिष्कार करते हुए उससे सभी तरह के संबंध समाप्त कर देने चाहिए। उन्होने कहा कि देश के प्रत्येक नागरिक को चीन में निर्मित वस्तुओ का बहिष्कार कर स्वदेशी वस्तुओं का प्रयोग करना चाहिए। उन्होने मोदी सरकार से अपील करते हुये कहा कि चीन को उसकी नापाक हरकत का मुंह तोड़ जबाव देने के साथ उससे सभी संबंध समाप्त कर देने चाहिए। कोषाध्यक्ष हरबीर सिंह ने कहा कि भारतीय सीमाओं में घुसपैठ की कोशिश कर रहे चीन ने सोची समझी साजिश के तहत पूरी दुनिया में कोरोना वायरस फैलाया है। ऐसे देश से सचेत रहने की आवश्यकता है। भारत की बहादुर सेना चीन की किसी भी कोशिश को कामयाब नहीं होने देगी। उन्होंने कहा कि देश के लिए अपने प्राणों का बलिदान करने वाले वीर शहीदों को मां गंगा अपने चरणों में स्थान दे। हवन यज्ञ व श्रद्धांजलि देने वालों में कमल, प्रकाश, बंटी, भुवनचंद मलकानी, गोपाल दत्त जोशी, गिरीश चंद पंत, उमेशचंद उप्रेती, हिमांश जोशी, गगन, संजीव, गुड्डु चैधरी, पंडित गोपाल जोशी आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *