भाजपा पार्षदों पर नगर निगम की संपत्ति को खुर्द बुर्द करने की साजिश करने का लगाया आरोप, मेयर अनिता शर्मा ने मंत्री को निगम में हस्तक्षेप बंद करने की दी सलाह

हरिद्वार । मेयर अनिता शर्मा ने भाजपा पार्षदों पर नगर निगम की संपत्ति को खुर्द बुर्द करने की साजिश करने का आरोप लगाया है। मेयर ने कहा कि यह सब शहरी विकास मंत्री के इशारे पर किया जा रहा है। उन्होंने मंत्री को निगम में हस्तक्षेप बंद करने की सलाह भी दी। वहीं संपत्तियों पर कब्जे के विरोध में मुख्यमंत्री कार्यालय के बाहर प्रदर्शन की बात भी कही। यह बातें उन्होंने प्रेस क्लब में पत्रकार वार्ता करते हुए कहीं। मेयर अनिता शर्मा ने एक बार फिर भाजपा पर करारा हमला बोला है। मेयर ने कहा कि बसंत भवन को वाद में एक करोड़ खर्च कर कब्जा मुक्त कराया गया। अब भाजपा पार्षद बसंत भवन को पुराने किरायेदारों के सुपुर्द कर संपत्ति को खुर्द बुर्द करने का प्रयास कर रहे हैं। कहा कि विचित्र वाटिका, रविदास बस्ती में नजूल भूमि, सतीघाट और टिबड़ी जैसी बेशकीमती भूमि पर भी कब्जे कराने का प्रयास किया जा रहा है। मेयर ने कहा कि जगजीतपुर के स्लेज फार्म की करोड़ों की भूमि को भी सरकारी मेडिकल कॉलेज के नाम पर प्राइवेट कॉलेज को दिया जा सकता है। अनिता शर्मा ने कहा कि शहरी विकास मंत्री ने भाजपा पार्षदों बैठक कर यह साजिस रची। मेयर ने कहा कि वे निगम की संपत्ति बेचने नहीं बचाने आई हैं। जनता ने उनको चुना इसलिए भाजपा पार्षदों केवल बहुमत के दम पर निगम की भूमि को कब्जाने नहीं दिया जाएगा। मेयर ने कहा मंत्री निगम में एक जेई तो उपलब्ध करवा नहीं पा रहे हैं और मेडकिल कॉलेज खोलने का दावा कर रहे हैं। कांग्रेस पार्षद अनुज सिंह ने कहा कि निगम के नए भवन का निर्माण, 60 छोटे कूड़ा वाहन, कर्मचारियों के बकाया भुगतान लिए 18 करोड़ रुपये की घोषणा सब कोरी घोषणाएं थी। कहा कि उत्तरी हरिद्वार में अस्पताल निर्माण के लिए नि:शुल्क भूमि का प्रस्ताव भी मेयर ने दिया था। कांग्रेस पार्षद राजीव भार्गव ने कहा कि जगजीतपुर स्लेज फार्म की भूमि केवल सरकारी मेडिकल कॉलेज के लिए दी गई है। मेयर ने कहा कि अब वे निगम की संपत्तियों को बचाने के लिए देहरादून में मुख्यमंत्री कार्यालय पर धरना देंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.