भेदभाव मिटाने और विश्वबन्धुत्व को बढ़ाने वाली भाषा है संस्कृत-ऋषि रामकृष्ण, संस्थाध्यक्ष ऋषि रामकृष्ण जी महाराज के पावन सानिध्य में संस्कृत सप्ताह का उद्घाटन

हरिद्वार । ऋषि संस्कृत महाविद्यालय खड़खड़ी हरिद्वार के सरस्वती भवन में संस्थाध्यक्ष ऋषि रामकृष्ण जी महाराज के पावन सानिध्य में संस्कृत सप्ताह का उद्घाटन हर्षाेल्लास के साथ किया गया। इस मौके पर सरस्वती वंदना नीरज जोशी व स्वागत गीत स्वराज एवं आशीष ने गाया। इस अवसर पर ऋषि रामकृष्ण जी महाराज ने दैनिक व्यवहार में संस्कृत भाषा का अधिक से अधिक प्रयोग करने का आवाह्न करते हुए कहा कि संस्कृत भाषा सरल एवं मधुर है। यह भेदभाव मिटाने वाली और विश्वबन्धुत्व को बढ़ाने वाली भाषा है। प्रधानाचार्य डॉ. भारतनन्दन चैबे ने संस्कृत के प्रचार-प्रसार एवं विकास के लिये संस्कृत सप्ताह के आयोजन को महत्वपूर्ण बताते हुए सप्ताह में किये जाने वाले कार्यों से अवगत कराया। मंच संचालन डॉ. तारादत्त अवस्थी ने किया। इस अवसर पर महाविद्यालय के अध्यापकों में से डॉ. दिनेशचन्द्र पाण्डेय, डॉ. चन्द्रभूषण शुक्ल, श्रीमती बिन्दु बलूनी ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *