उत्तराखंड: सौतेली मां ने पहले बेटी को पीटा, फिर गला घोंटकर कर दी हत्या, गड्ढा खोदकर शव दफनाया

 

काशीपुर। काशीपुर में सौतेली मां ने आठ वर्षीय बच्ची की बर्बरतापूर्वक हत्या कर उसका शव घर के सामने एक खाली मकान में गड्ढा खोदकर दबा दिया। वह नवमी के दिन से लापता थी। उसके पिता ने आईटीआई थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी जिसे हत्या की धाराओं में तरमीम कर दिया गया है। आरोपी महिला को हिरासत में ले लिया है। डॉक्टरों के पैनल ने शव का पोस्टमार्टम किया। खड़कपुर देवीपुरा निवासी मोनू कुमार ने पुलिस को बताया कि उसकी पहली पत्नी रीना की 5-6 साल पहले बीमारी से मौत हो गई थी। उससे उसकी दो बेटियां सोनी (8) और तनु (6) थीं। दोनों की परवरिश के लिए परिजनों ने चार साल पहले उसकी दूसरी शादी ग्राम फजलपुर थाना डिलारी जिला मुरादाबाद (यूपी) निवासी लक्ष्मी से करा दी थी। उससे उसका बेटा देव (2) और बेटी देविका (3) है। सोनी कक्षा चार में पढ़ती थी। माेनू ने बताया कि 15 अप्रैल को उसकी मां संतोष देवी रिश्तेदार की गमी में गई थीं, जबकि वह अपने मामा के घर लगन में शामिल होने 16 अप्रैल को गल्लाखेड़ा ताजपुर जिला बिजनौर (यूपी) गया था। इसके बाद उसकी मां संतोष देवी 17 अप्रैल को रिश्तेदार के घर से बिजनौर पहुंच गई थीं जबकि घर में पत्नी लक्ष्मी और चारों बच्चे थे। मोनू कुमार ने बताया कि 17 अप्रैल की शाम 6:30 बजे लक्ष्मी का फोन आया कि सोनी नवमी पूजन के लिए सहेलियों के साथ गई थी जो घर नहीं लौटी। इस पर वह घर आया और खोजबीन की, लेकिन सोनी नहीं मिली। तब उसने आईटीआई थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। पुलिस ने बीते बृहस्पतिवार को दोपहर में सीसीटीवी फुटेज खंगाले जिसमें उसकी पत्नी लक्ष्मी दोपहर करीब ढाई बजे बेटी सोनी को सामने वाले घर में ले जाती नजर आई। तब पुलिस ने सामने खाली मकान में खोजबीन की, जहां एक जगह गड्ढे में ताजी मिट्टी पड़ी थी।
पुलिस ने जब गड्ढे की मिट्टी निकाली तो उसमें एक बोरे में सोनी का शव रस्सी से बंधा हुआ था। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा और लक्ष्मी को पकड़ लिया। पुलिस ने हत्या के कारणों को जानने के लिए डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया। कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि लक्ष्मी सौतेली बेटी सोनी से द्वेष भावना रखती थी। उसने बताया कि सोनी उसके बच्चों का हिस्सा मार लेती इसलिए उसने उसकी हत्या कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *