उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी संघर्ष समिति ने पांच सूत्रीय मांगों को लेकर तहसील में दिया धरना

 

रुड़की । उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी संघर्ष समिति ने पांच सूत्रीय मांगों को लेकर तहसील में धरना दिया। मांगों को लेकर मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा। आंदोलनकारियों ने मांग पूरी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।
रुड़की तहसील स्थित ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कार्यालय में रविवार को धरने के दौरान समिति के केंद्रीय अध्यक्ष हर्ष प्रकाश काला ने कहा कि मुख्यमंत्री की ओर से चिन्हीकरण से वंचित आंदोलनकारियों को भी चिहिन्त करने की घोषणा की गई थी। लेकिन अब तक कई आंदोलनकारी चिन्हीकरण से वांचित हैं। उन्होंने कहा कि चिन्हित राज्य आंदोलनकारियों के लिए एक समान पेंशन लागू हो। मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार राज्य आंदोलनकारियों को सरकारी सेवाओं में दस फीसदी क्षैतिज आरक्षण जल्द लागू किया जाए। धरना प्रदर्शन में कविता रावत, माणिक लाल बडथवाल,अनुसूया प्रसाद,देव सिंह सामंत, प्रदीप बुढ़ाकोटी, प्रेम दत्त गोदियाल, राजेश चमोली, विनोद भट्ट, सच्चिदानंद ध्यानी,गोदावरी देवी, मधु, प्रेमचंद ध्यानी,हेमा जोशी, महिपाल सिंह नेगी, पार्वती रावत,रेवती रावत, सरोजनी देवी, संतोषी राणा,सुरेश देवी, प्रेम बिष्ट, बीना देवी,मनोरमा पंत, शोभा ध्यानी, उमा रावत, राजेश्वरी गॉड, प्रेमवती नारायण, पार्वती नेगी, शकुंतला देवी,उमा देवी,वीरा देवी, सीता राणा, हेमंत बडथवाल, राधा कृष्ण पुरोहित आदि लोग मौजूद रहे।

पर हमसे जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक  करे , साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार ) के अपडेट के लिए हमे पर फॉलो करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *