हिन्दी आदि काल से रही साहित्यकारों की प्रिय, राजकमल काॅलेज बहादराबाद में मनाया गया हिन्दी दिवस

बहादराबाद । राजकमल साइंस एंड मैनेजमेंट कॉलेज बहादराबाद हरिद्वार में बी.एससी व बी.कॉम के छात्र-छात्राओं व स्टाफ सदस्यों द्वारा राष्ट्रीय हिंदी दिवस मनाया गया। हिंदी देश के कई राज्यों में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है। आम बोलचाल के लिए भी हिंदी सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाती है। हिंदी के महत्व को लोगों तक पहुंचाने और इसे बढ़ावा देने के मकसद से हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है।मनीष चौहान प्रबंधक, अशोका इंटरनेशनल स्कूल अम्बुवाला ने कहा कि हिंदी राष्ट्रीय स्वाभिमान की भाषा हैं। भारत एक विविध सभ्यताओं का देश है, जहां अनेक भाषाएं, जातियां, और संस्कृतियां मिलती हैं। इतनी विविधताओं के बाद भी हिंदी भाषा वह माध्यम है, जो हम सभी को एक साथ आने का और एकता के सूत्र में बंधने का रास्ता दिखाती है। हिन्दी हमारे शर्मिंदा होने का नहीं, बल्कि गर्व करने का कारण है। अपने भावों की अभिव्यक्ति हम अपनी मातृभाषा के अलावा किसी ओर भाषा में उतने अच्छे से नहीं कर सकते हैं। कोई और भाषा हिंदी का स्थान नहीं ले सकती हैं। राजकमल कॉलेज प्राचार्य डॉ. राघवेंद्र चौहान ने सभी को राष्ट्रीय हिंदी दिवस की बधाई दी, उन्होंने कहा कि हिंदी हमारी भाषा है, हमारी आत्मा का हिस्सा है, और हमारी पहचान है।हिंदी सिर्फ हमारी मातृभाषा ही नहीं बल्कि यह राष्ट्रीय अस्मिता और गौरव का प्रतीक है। यह हिंदी ही है जो देश के धर्म जाति भाषा संस्कृति की विविधताओं के फैसले को खत्म कर देता है और सभी को एकता के सूत्र में बांधे रखती है। राष्ट्रीय हिंदी दिवस कार्यक्रम के अवसर पर राजेश देवी सचिव राजकमल कॉलेज, तथा महाविद्यालय के प्रबंध समिति सदस्य दुष्यंत प्रताप, नितिन चौहान, व प्रवक्तागण, डॉ दीपा, अजय कुमार, प्रतिभा गिरी, प्रेरणा राजपूत, अजय कुमार, विनीत कुमार, आस्था यादव, नैंसी चौहान, सुजाता, मुकुल शर्मा, अविनाश, सूरमान, स्टाफ सदस्यों एवं छात्र-छात्राओं सहित कई लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *